कमजोर पश्चिमी विक्षोभ के असर से प्रदेश के उत्तरी व दक्षिणी जिलों में हुई बारिश


ख़बर सुनें

हिसार। कमजोर श्रेणी के पश्चिमी विक्षोभ के असर से वीरवार को प्रदेश के उत्तरी व दक्षिणी जिलों में तेज हवाओं के साथ बारिश की गतिविधियां दर्ज की गईं। मौसम विशेषज्ञ के अनुसार वीरवार रात से एक मध्यम श्रेणी का पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय होगा। चूंकि इस पश्चिमी विक्षोभ को अरब सागर व बंगाल की खाड़ी दोनों तरफ से नमी मिलेगी। इस कारण से आज प्रदेश भर में बारिश संबंधी गतिविधियां होने की संभावना है। भारतीय मौसम विभाग ने इसे लेकर 21 जून तक येलो अलर्ट जारी किया है।
मंगलवार रात से सक्रिय हुए कमजोर श्रेणी के पश्चिमी विक्षोभ के असर से बुधवार रात व वीरवार अल सुबह प्रदेश के उत्तरी जिलों पंचकूला, अंबाला, यमुनानगर, कुरुक्षेत्र, करनाल, जींद व कैथल में 50-60 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं और गरज चमक के साथ बारिश की गतिविधियां दर्ज की गईं। वहीं प्रदेश दक्षिणी हिस्सों महेंद्रगढ़, भिवानी, रेवाड़ी, पलवल, गुरुग्राम, फरीदाबाद जिले में कई स्थानों पर शाम से रात तक बूंदाबांदी से लेकर हल्की बारिश दर्ज की गई। प्री मानसून गतिविधियों की वजह से प्रभावित स्थानों पर तापमान में गिरावट दर्ज हुई है जबकि प्रदेश के मध्य वाले हिस्से में बारिश न होने व नमी की मात्रा ज्यादा होने के कारण उमस वाली गर्मी ने लोगों को परेशान किया। इस दौरान प्रदेश में अधिकतम तापमान 35 से 42 डिग्री सेल्सियस के बीच दर्ज किया गया।
बुधवार सुबह साढ़े आठ बजे से वीरवार सुबह साढ़े 8 बजे तक हुई बारिश का आंकड़ा
कुरुक्षेत्र-18.5
अम्बाला-8.0
पंचकूला-3.5
सोनीपत-3.0

हिसार। कमजोर श्रेणी के पश्चिमी विक्षोभ के असर से वीरवार को प्रदेश के उत्तरी व दक्षिणी जिलों में तेज हवाओं के साथ बारिश की गतिविधियां दर्ज की गईं। मौसम विशेषज्ञ के अनुसार वीरवार रात से एक मध्यम श्रेणी का पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय होगा। चूंकि इस पश्चिमी विक्षोभ को अरब सागर व बंगाल की खाड़ी दोनों तरफ से नमी मिलेगी। इस कारण से आज प्रदेश भर में बारिश संबंधी गतिविधियां होने की संभावना है। भारतीय मौसम विभाग ने इसे लेकर 21 जून तक येलो अलर्ट जारी किया है।

मंगलवार रात से सक्रिय हुए कमजोर श्रेणी के पश्चिमी विक्षोभ के असर से बुधवार रात व वीरवार अल सुबह प्रदेश के उत्तरी जिलों पंचकूला, अंबाला, यमुनानगर, कुरुक्षेत्र, करनाल, जींद व कैथल में 50-60 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं और गरज चमक के साथ बारिश की गतिविधियां दर्ज की गईं। वहीं प्रदेश दक्षिणी हिस्सों महेंद्रगढ़, भिवानी, रेवाड़ी, पलवल, गुरुग्राम, फरीदाबाद जिले में कई स्थानों पर शाम से रात तक बूंदाबांदी से लेकर हल्की बारिश दर्ज की गई। प्री मानसून गतिविधियों की वजह से प्रभावित स्थानों पर तापमान में गिरावट दर्ज हुई है जबकि प्रदेश के मध्य वाले हिस्से में बारिश न होने व नमी की मात्रा ज्यादा होने के कारण उमस वाली गर्मी ने लोगों को परेशान किया। इस दौरान प्रदेश में अधिकतम तापमान 35 से 42 डिग्री सेल्सियस के बीच दर्ज किया गया।

बुधवार सुबह साढ़े आठ बजे से वीरवार सुबह साढ़े 8 बजे तक हुई बारिश का आंकड़ा

कुरुक्षेत्र-18.5

अम्बाला-8.0

पंचकूला-3.5

सोनीपत-3.0

.


What do you think?

Written by Haryanacircle

प्रदेश की खापें भी उतरेंगी अग्निपथ योजना के विरोध में

सरसों के कट्टों का गबन करने के लिए लगाई थी ट्रक में आग