in

कनाडा भेजने के नाम पर 14 लाख रुपये की ठगी, दंपती नामजद


ख़बर सुनें

कनाडा भेजने के नाम पर एक दंपती पर 14 लाख रुपये की ठगी करने का आरोप लगाया है। आरोपी दंपती ने शिकायतकर्ता को कनाडा की बजाए दुबई भेज दिया। पीड़ितों की शिकायत पर पुलिस ने आरोपी दंपती के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।
थाना लाडवा पुलिस को दी शिकायत में अमित व योगेश वासी बन ने कहा कि नोहनी वासी गुरविंद्र सिंह ने उनकी मुलाकात सुखविंद्र सिंह और उसकी पत्नी परमजीत कौर वासी मैहतपुर नवांशहर (पंजाब) से कराई थी। आरोपियों ने दोनों को सात-सात लाख रुपये में कनाडा भेजने का आश्वासन दिया था। आरोपियों ने उनसे पैसे लेकर उन्हें दुबई भेज दिया, जहां से उन्हें कनाडा नहीं भेजा गया। वे डेढ़ साल तक अपने खर्च पर दुबई में रहे। इसके बाद वे अपने गांव आ गए।
उन्होंने आरोपियों से फोन पर काफी बार संपर्क किया। आरोपी कोई संतोषजनक जवाब न देकर उन्हें गुमराह करते रहे। वे आरोपियों के पार्टनर गुरविंद्र के घर भी दो-तीन बार गए, मगर उनकी रकम नहीं लौटाई गई। तंग आकर उन्होंने सीएम विंडो में शिकायत दी। इस पर सुखजिंद्र और गुरविंद्र 25 अप्रैल को लाडवा थाने में आए और उन्होंने बाहर ही मामला निपटाने की मांग रखी। उसी दिन सुखजिंद्र ने उन्हें छह-छह लाख के दो चेक दिए। एक चेक सात मई व दूसरा सात जून का था। उसने कहा कि दो महीने के अंदर सारी रकम चुका देगा।
वहीं गुरविंद्र ने लाडवा थाने में लिखित बयान दिया था कि यदि सुखजिंद्र उसकी पेमेंट नहीं करता तो वह उसके खिलाफ गवाही देगा। गुरविंद्र ने उनसे 50 हजार रुपये लिए थे, जो उसने वापस कर दिए। उन्होेंने 10 मई को छह लाख रुपये का चेक लगाया तो वह बाउंस हो गया। चेक बाउंस होने के बाद उन्होंने फोन पर संपर्क किया तो दंपती गुमराह करता रहा। शिकायत पर पुलिस ने दंपती को नामजद करके मामले की जांच शुरू कर दी है।

कनाडा भेजने के नाम पर एक दंपती पर 14 लाख रुपये की ठगी करने का आरोप लगाया है। आरोपी दंपती ने शिकायतकर्ता को कनाडा की बजाए दुबई भेज दिया। पीड़ितों की शिकायत पर पुलिस ने आरोपी दंपती के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

थाना लाडवा पुलिस को दी शिकायत में अमित व योगेश वासी बन ने कहा कि नोहनी वासी गुरविंद्र सिंह ने उनकी मुलाकात सुखविंद्र सिंह और उसकी पत्नी परमजीत कौर वासी मैहतपुर नवांशहर (पंजाब) से कराई थी। आरोपियों ने दोनों को सात-सात लाख रुपये में कनाडा भेजने का आश्वासन दिया था। आरोपियों ने उनसे पैसे लेकर उन्हें दुबई भेज दिया, जहां से उन्हें कनाडा नहीं भेजा गया। वे डेढ़ साल तक अपने खर्च पर दुबई में रहे। इसके बाद वे अपने गांव आ गए।

उन्होंने आरोपियों से फोन पर काफी बार संपर्क किया। आरोपी कोई संतोषजनक जवाब न देकर उन्हें गुमराह करते रहे। वे आरोपियों के पार्टनर गुरविंद्र के घर भी दो-तीन बार गए, मगर उनकी रकम नहीं लौटाई गई। तंग आकर उन्होंने सीएम विंडो में शिकायत दी। इस पर सुखजिंद्र और गुरविंद्र 25 अप्रैल को लाडवा थाने में आए और उन्होंने बाहर ही मामला निपटाने की मांग रखी। उसी दिन सुखजिंद्र ने उन्हें छह-छह लाख के दो चेक दिए। एक चेक सात मई व दूसरा सात जून का था। उसने कहा कि दो महीने के अंदर सारी रकम चुका देगा।

वहीं गुरविंद्र ने लाडवा थाने में लिखित बयान दिया था कि यदि सुखजिंद्र उसकी पेमेंट नहीं करता तो वह उसके खिलाफ गवाही देगा। गुरविंद्र ने उनसे 50 हजार रुपये लिए थे, जो उसने वापस कर दिए। उन्होेंने 10 मई को छह लाख रुपये का चेक लगाया तो वह बाउंस हो गया। चेक बाउंस होने के बाद उन्होंने फोन पर संपर्क किया तो दंपती गुमराह करता रहा। शिकायत पर पुलिस ने दंपती को नामजद करके मामले की जांच शुरू कर दी है।

.


मेडिकल संचालक पर दुकान में घुसकर हमला कर छीने 25 हजार, तीन नामजद

देसी कट्टा व कारतूस के साथ बाइक चालक काबू, भेजा जेल