एसजीटी यूनिर्विसटी में मेडिकल के छात्र की हत्या के सभी आरोपी गिरफ्तार


ख़बर सुनें

गुरुग्राम। दस माह पहले एसजीटी यूनिवर्सिटी में दिन दहाड़े मेडिकल के छात्र की गोली मारकर हुई हत्या के मामले में एसटीफ ने मुख्य आरोपी की महिला मित्र व दोस्तों को गिरफ्तार किया है। बेटे को फरारी के दौरान शह देने वाला पिता पुलिस की गिरफ्त से बाहर है। पता चला है कि आरोपी पिता ने हाईकोर्ट से अंतरिम जमानत हासिल कर ली है। हाईकोर्ट से अंतरिम जमानत मिलने के बाद एसटीएफ की जांच महकमे में चर्चा का विषय बनी हुई है।
दस माह पहले नजफगढ़ के रहने वाले पंखिल उर्फ लक्की ने शामली के रहने वाले मेडिकल छात्र विनीत की गोली मार कर हत्या कर दी थी। हत्या के पीछे उसकी महिला मित्र हिमानी से विनीत की पुरानी दोस्ती बताई गई थी। इस मामले की जांच कमिश्नरेट की पुलिस ने जांच के बाद मुख्य आरोपी को गिरफ्तार किया था। इस मामले की जांच मुख्यमंत्री के आदेश के बाद एसटीएफ को सौंप दी गई थी। एसटीएफ ने इस मामले में पंखिल के सभी दोस्त व महिला मित्र हिमानी को भी गिरफ्तार कर लिया है। सूत्रों के अनुसार पंखिल के पिता का नजफगढ़ में कपड़े का शो रूम है। पुलिस ने उसे बेटे को हत्या के बाद शह देने के मामले में आरोपी बनाया था। हाईकोर्ट से उसे अंतरिम जमानत मिल गई है, जो महकमे में चर्चा का विषय बना हुआ है।
—-
पिस्टल अब तक नहीं हुई बरामद
हत्या के मामले में पिस्टल की बरामदगी अभी तक नहीं हुई है। जिन आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। उनके अलग-अलग बयान हैं। कमिश्नरेट की पुलिस से जांच तो एसटीएफ के पास पहुंच गई है मगर आरोपी को सजा दिलाना एसटीएफ के लिए चुनौती बना हुआ है। एसटीएफ के एक अधिकारी का कहना है कि मामले की जांच चल रही है। जो आरोपी थे, उनको गिरफ्तार करके जेल भेजा जा चुका है। इस मामले की जांच में शामिल एक इंस्पेक्टर पर घूस लेने का आरोप लगा था। जिसकी विभागीय जांच भी पूरी हो चुकी है।

गुरुग्राम। दस माह पहले एसजीटी यूनिवर्सिटी में दिन दहाड़े मेडिकल के छात्र की गोली मारकर हुई हत्या के मामले में एसटीफ ने मुख्य आरोपी की महिला मित्र व दोस्तों को गिरफ्तार किया है। बेटे को फरारी के दौरान शह देने वाला पिता पुलिस की गिरफ्त से बाहर है। पता चला है कि आरोपी पिता ने हाईकोर्ट से अंतरिम जमानत हासिल कर ली है। हाईकोर्ट से अंतरिम जमानत मिलने के बाद एसटीएफ की जांच महकमे में चर्चा का विषय बनी हुई है।

दस माह पहले नजफगढ़ के रहने वाले पंखिल उर्फ लक्की ने शामली के रहने वाले मेडिकल छात्र विनीत की गोली मार कर हत्या कर दी थी। हत्या के पीछे उसकी महिला मित्र हिमानी से विनीत की पुरानी दोस्ती बताई गई थी। इस मामले की जांच कमिश्नरेट की पुलिस ने जांच के बाद मुख्य आरोपी को गिरफ्तार किया था। इस मामले की जांच मुख्यमंत्री के आदेश के बाद एसटीएफ को सौंप दी गई थी। एसटीएफ ने इस मामले में पंखिल के सभी दोस्त व महिला मित्र हिमानी को भी गिरफ्तार कर लिया है। सूत्रों के अनुसार पंखिल के पिता का नजफगढ़ में कपड़े का शो रूम है। पुलिस ने उसे बेटे को हत्या के बाद शह देने के मामले में आरोपी बनाया था। हाईकोर्ट से उसे अंतरिम जमानत मिल गई है, जो महकमे में चर्चा का विषय बना हुआ है।

—-

पिस्टल अब तक नहीं हुई बरामद

हत्या के मामले में पिस्टल की बरामदगी अभी तक नहीं हुई है। जिन आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। उनके अलग-अलग बयान हैं। कमिश्नरेट की पुलिस से जांच तो एसटीएफ के पास पहुंच गई है मगर आरोपी को सजा दिलाना एसटीएफ के लिए चुनौती बना हुआ है। एसटीएफ के एक अधिकारी का कहना है कि मामले की जांच चल रही है। जो आरोपी थे, उनको गिरफ्तार करके जेल भेजा जा चुका है। इस मामले की जांच में शामिल एक इंस्पेक्टर पर घूस लेने का आरोप लगा था। जिसकी विभागीय जांच भी पूरी हो चुकी है।

.


What do you think?

Written by Haryanacircle

Chandigarh: पीजीआई के विशेषज्ञों ने तैयार किया विशेष मास्क, आईसीयू के मरीजों को नहीं होगी घबराहट, भोजन भी कर सकेंगे

मां को चोरी में फंसने की बात कहकर मासूम से की ठगी