एशियन कैडेट चैंपियनशिप: हरियाणा की बेटियों ने सात पदक जीत बिश्केक में पहली बार देश को दिलाया एशिया खिताब


ख़बर सुनें

एशियन कैडेट चैंपियनशिप (सब जूनियर) में हरियाणा की बेटियों ने डंका बजाते हुए देश को पहली बार एशिया खिताब दिलाया है। प्रतियोगिता में देश का प्रतिनिधित्व कर रहीं प्रदेश की सात बेटियों ने छह स्वर्ण व एक कांस्य पदक जीतकर देशवासियों को खुशी की सौगात दी है। 

किर्गिस्तान के बिश्केक शहर में 22 से 26 जून तक होने आयोजित चैंपियनशिप में महिला पहलवानों की बदौलत आठ बार भारतीय राष्ट्रगान बजाया गया। कुश्ती में प्रदेश के खिलाड़ियों ने अपनी अलग पहचान बनाई है। अंतरराष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिताओं में सदैव प्रदेश के पहलवानों का दबदबा रहता है।

प्रदेश के युवा पहलवान अंतरराष्ट्रीय फलक पर लगातार नाम चमका रहे हैं। बिश्केक में एशियन कैडेट चैंपियनशिप में प्रदेश की सात बेटियों समेत देश की सभी दस बेटियों ने पदक जीते है। इसमें आठ स्वर्ण, एक रजत व एक कांस्य पदक शामिल हैं। 

भारत ने 235 अंक के साथ जीता खिताब 
प्रतियोगिता में आठ स्वर्ण सहित 10 पदक जीतकर देश की बेटियों ने 235 अंक जुटाए। इसके चलते उन्होंने खिताबी जीत दर्ज की। प्रतियोगिता में 143 अंक के साथ जापान दूसरे व 138 अंक के साथ मंगोलिया तीसरे स्थान पर रहा। 

इन बेटियों ने जीते पदक 

  • पहलवान   भारवर्ग     पदक   प्रदेश 
  • मुस्कान  40 किलो   सोना    रोहतक, हरियाणा
  • रितिका   43 किलो  सोना    रोहतक, हरियाणा
  • श्रुति     46 किलो    सोना    दिल्ली
  • अहिल्या शिंदे  49 किलो  सोना  महाराष्ट्र
  • रीना     53 किलो   सोना    चरखी दादरी, हरियाणा
  • शिक्षा     57 किलो      सोना     सोनीपत, हरियाणा 
  • सविता    61 किलो   सोना      रोहतक, हरियाणा  
  • पुलकित   65 किलो    रजत      जींद, हरियाणा
  • मानसी    69 किलो   कांस्य   दिल्ली 
  • प्रिया      73 किलो    सोना   जींद, हरियाणा  

युद्धवीर अखाड़े की बेटी है शिक्षा, जुआं अखाड़े के रोनित ने भी जीता पदक 
देश को 57 किलोग्राम भार वर्ग में स्वर्ण पदक दिलाने वाली शिक्षा युद्धवीर अखाड़े की पहलवान हैं। उन्होंने बेहतर प्रदर्शन कर देश की झोली में सोना डाला है। वहीं गांव जुआं अखाड़ा के पहलवान रोनित शर्मा ने 48 किलो में ग्रीको रोमन वर्ग में देश को स्वर्ण पदक दिलाया है। अखाड़ा संचालक संजीत के साथ ही राजबीर छिक्कारा, कोच डालमिया भौरिया, जगजीत सिंह, वीरेंद्र छिक्कारा, सुरेंद्र सिंह, प्रताप छिक्कारा, बलवंत सिंह, आरएम छिक्कारा, राजेश, कुलदीप छिक्कारा ने विजेता पहलवान को बधाई दी है।

विस्तार

एशियन कैडेट चैंपियनशिप (सब जूनियर) में हरियाणा की बेटियों ने डंका बजाते हुए देश को पहली बार एशिया खिताब दिलाया है। प्रतियोगिता में देश का प्रतिनिधित्व कर रहीं प्रदेश की सात बेटियों ने छह स्वर्ण व एक कांस्य पदक जीतकर देशवासियों को खुशी की सौगात दी है। 

किर्गिस्तान के बिश्केक शहर में 22 से 26 जून तक होने आयोजित चैंपियनशिप में महिला पहलवानों की बदौलत आठ बार भारतीय राष्ट्रगान बजाया गया। कुश्ती में प्रदेश के खिलाड़ियों ने अपनी अलग पहचान बनाई है। अंतरराष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिताओं में सदैव प्रदेश के पहलवानों का दबदबा रहता है।

प्रदेश के युवा पहलवान अंतरराष्ट्रीय फलक पर लगातार नाम चमका रहे हैं। बिश्केक में एशियन कैडेट चैंपियनशिप में प्रदेश की सात बेटियों समेत देश की सभी दस बेटियों ने पदक जीते है। इसमें आठ स्वर्ण, एक रजत व एक कांस्य पदक शामिल हैं। 

भारत ने 235 अंक के साथ जीता खिताब 

प्रतियोगिता में आठ स्वर्ण सहित 10 पदक जीतकर देश की बेटियों ने 235 अंक जुटाए। इसके चलते उन्होंने खिताबी जीत दर्ज की। प्रतियोगिता में 143 अंक के साथ जापान दूसरे व 138 अंक के साथ मंगोलिया तीसरे स्थान पर रहा। 

इन बेटियों ने जीते पदक 

  • पहलवान   भारवर्ग     पदक   प्रदेश 
  • मुस्कान  40 किलो   सोना    रोहतक, हरियाणा
  • रितिका   43 किलो  सोना    रोहतक, हरियाणा
  • श्रुति     46 किलो    सोना    दिल्ली
  • अहिल्या शिंदे  49 किलो  सोना  महाराष्ट्र
  • रीना     53 किलो   सोना    चरखी दादरी, हरियाणा
  • शिक्षा     57 किलो      सोना     सोनीपत, हरियाणा 
  • सविता    61 किलो   सोना      रोहतक, हरियाणा  
  • पुलकित   65 किलो    रजत      जींद, हरियाणा
  • मानसी    69 किलो   कांस्य   दिल्ली 
  • प्रिया      73 किलो    सोना   जींद, हरियाणा  


युद्धवीर अखाड़े की बेटी है शिक्षा, जुआं अखाड़े के रोनित ने भी जीता पदक 

देश को 57 किलोग्राम भार वर्ग में स्वर्ण पदक दिलाने वाली शिक्षा युद्धवीर अखाड़े की पहलवान हैं। उन्होंने बेहतर प्रदर्शन कर देश की झोली में सोना डाला है। वहीं गांव जुआं अखाड़ा के पहलवान रोनित शर्मा ने 48 किलो में ग्रीको रोमन वर्ग में देश को स्वर्ण पदक दिलाया है। अखाड़ा संचालक संजीत के साथ ही राजबीर छिक्कारा, कोच डालमिया भौरिया, जगजीत सिंह, वीरेंद्र छिक्कारा, सुरेंद्र सिंह, प्रताप छिक्कारा, बलवंत सिंह, आरएम छिक्कारा, राजेश, कुलदीप छिक्कारा ने विजेता पहलवान को बधाई दी है।

.


What do you think?

Written by Haryanacircle

हादसे में रिक्शा चालक की मौत

स्मैक के साथ आरोपी काबू