एनक्यूएएस की टीम ने बनाई रिपोर्ट, अब परिणाम का इंतजार


ख़बर सुनें

अंबाला सिटी। राष्ट्रीय गुणवत्ता आश्वासन कार्यक्रम के तहत एनक्यूएएस प्रमाणपत्र के लिए टीम द्वारा तीन दिन की निरीक्षण प्रक्रिया पूरी की गई। सोमवार को आई टीम ने सिटी सिविल अस्पताल का बुधवार तक निरीक्षण किया। बुधवार को टीम ने कागजी कार्रवाई पूरी की। अब रिपोर्ट तैयार कर टीम की ओर से आगे भेजा जाएगा। यह प्रक्रिया पूरी होने के बाद अब अस्पताल को परिणाम का इंतजार रहेगा। इससे पहले भी सिटी सिविल अस्पताल इसमें काफी अच्छा प्रदर्शन कर चुका है। ऐसे में इस बार भी अस्पताल की जिम्मेदारी और बढ़ गई थी। अब टीम को क्या अच्छा लगा और क्या बुरा, इसके बारे में अब परिणाम आने पर ही पता चलेगा। बता दें टीम में बैंगलोर से ईएनटी सर्जन डॉ. बसंती रेडी, मध्य प्रदेश के कथनी से सीएमओ डॉ. यशवंत वर्मा व हैदराबाद से एनएचएम डॉ. एम प्रसाद राय शामिल थे।
पहले ही शुरू कर दी थी तैयारी
एनक्यूएएस टीम को अस्पताल बेहतर दिखाई दे, इसके लिए स्टाफ द्वारा पूरा प्रयास किया गया। यहां तक कि अस्पताल में व्यवस्था बनाने के लिए कई दिन पहले तैयारियां शुरू कर दी गई थी। इसके लिए बाकायदा डॉक्टरों की टीम ने बैठकें भी की। वरिष्ठ डॉक्टरों द्वारा कई बार अस्पताल के व्यवस्थाओं की जांच पड़ताल भी की गई। अब निरीक्षण पूरा होने के बार अस्पताल स्टाफ ने राहत की सांस ली है।

अंबाला सिटी। राष्ट्रीय गुणवत्ता आश्वासन कार्यक्रम के तहत एनक्यूएएस प्रमाणपत्र के लिए टीम द्वारा तीन दिन की निरीक्षण प्रक्रिया पूरी की गई। सोमवार को आई टीम ने सिटी सिविल अस्पताल का बुधवार तक निरीक्षण किया। बुधवार को टीम ने कागजी कार्रवाई पूरी की। अब रिपोर्ट तैयार कर टीम की ओर से आगे भेजा जाएगा। यह प्रक्रिया पूरी होने के बाद अब अस्पताल को परिणाम का इंतजार रहेगा। इससे पहले भी सिटी सिविल अस्पताल इसमें काफी अच्छा प्रदर्शन कर चुका है। ऐसे में इस बार भी अस्पताल की जिम्मेदारी और बढ़ गई थी। अब टीम को क्या अच्छा लगा और क्या बुरा, इसके बारे में अब परिणाम आने पर ही पता चलेगा। बता दें टीम में बैंगलोर से ईएनटी सर्जन डॉ. बसंती रेडी, मध्य प्रदेश के कथनी से सीएमओ डॉ. यशवंत वर्मा व हैदराबाद से एनएचएम डॉ. एम प्रसाद राय शामिल थे।

पहले ही शुरू कर दी थी तैयारी

एनक्यूएएस टीम को अस्पताल बेहतर दिखाई दे, इसके लिए स्टाफ द्वारा पूरा प्रयास किया गया। यहां तक कि अस्पताल में व्यवस्था बनाने के लिए कई दिन पहले तैयारियां शुरू कर दी गई थी। इसके लिए बाकायदा डॉक्टरों की टीम ने बैठकें भी की। वरिष्ठ डॉक्टरों द्वारा कई बार अस्पताल के व्यवस्थाओं की जांच पड़ताल भी की गई। अब निरीक्षण पूरा होने के बार अस्पताल स्टाफ ने राहत की सांस ली है।

.


What do you think?

Written by Haryanacircle

टॉप तीन स्थानों पर म्हारी बेटियों ने जमाया कब्जा

गुरू हरगोबिंद सिंह के प्रकाशोत्सव पर्व पर गुरमत समागम