उधार दिए रुपये मांगने गए व्यक्ति के पेट में युवक ने मारी गोली


ख़बर सुनें

उधार दिए गए तीन लाख रुपये मांगने पर गांव मुरथल स्थित अपने कार्यालय में एक युवक ने बख्तावरपुर के व्यक्ति को गोली मार दी, जिससे वह घायल हो गया। ग्रामीण ने इस बारे में बेटे को जानकारी दी। घायल को उनके बेटे ने अस्पताल में भर्ती कराया। पुलिस ने घायल के बेटे के बयान पर हत्या की कोशिश का मुकदमा दर्ज कर लिया है।
गांव बख्तावरपुर निवासी राहुल ने पुलिस को बताया कि वह निजी कंपनी में काम करता है। उनके पिता मंजीत सिंह गाड़ियों को किराये पर चलवाते हैं। राहुल ने पुलिस बताया कि उनके पिता ने गांव मुरथल निवासी वीरेंद्र को करीब तीन लाख रुपये उधार दिए थे। वीरेंद्र मुरथल स्थित अपने ऑफिस में बैठता था। उसके पिता मंजीत सिंह ने वीरवार देर शाम राहुल को फोन कर कहा कि वह उधार दिए रुपये लेने के लिए उसके दफ्तर आ रहा है। यहां पैसे देने के बजाय वीरेंद्र ने उसके पेट में गोली मार दी। सूचना मिलने के बाद राहुल मुरथल पहुंचा और अपने पिता को मुरथल रोड स्थित निजी अस्पताल लेकर गया, जहां से उपचार देने के बाद रेफर कर दिया गया। राहुल ने अपने पिता को रोहतक के निजी अस्पताल में भर्ती कराया है। सूचना के बाद पहुंची मुरथल थाना पुलिस ने घायल के बेटे राहुल के बयान पर वीरेंद्र व उसके भाई के खिलाफ हत्या की कोशिश व धमकी देने का मुकदमा दर्ज कर लिया है। राहुल का आरोप है कि वीरेंद्र का भाई भी उसके पिता को पैसे नहीं देने के बारे में कई बार धमकी दे चुका है। पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है।
गांव मुरथल में पैसों के लेनदेन में एक व्यक्ति को गोली मारने की शिकायत मिली थी। व्यक्ति के बेटे के बयान पर हत्या की कोशिश का मुकदमा दर्ज कर लिया है। मामले की गहनता से जांच की जा रही है। -इंस्पेक्टर सुमित कुमार, थाना प्रभारी, मुरथल।

उधार दिए गए तीन लाख रुपये मांगने पर गांव मुरथल स्थित अपने कार्यालय में एक युवक ने बख्तावरपुर के व्यक्ति को गोली मार दी, जिससे वह घायल हो गया। ग्रामीण ने इस बारे में बेटे को जानकारी दी। घायल को उनके बेटे ने अस्पताल में भर्ती कराया। पुलिस ने घायल के बेटे के बयान पर हत्या की कोशिश का मुकदमा दर्ज कर लिया है।

गांव बख्तावरपुर निवासी राहुल ने पुलिस को बताया कि वह निजी कंपनी में काम करता है। उनके पिता मंजीत सिंह गाड़ियों को किराये पर चलवाते हैं। राहुल ने पुलिस बताया कि उनके पिता ने गांव मुरथल निवासी वीरेंद्र को करीब तीन लाख रुपये उधार दिए थे। वीरेंद्र मुरथल स्थित अपने ऑफिस में बैठता था। उसके पिता मंजीत सिंह ने वीरवार देर शाम राहुल को फोन कर कहा कि वह उधार दिए रुपये लेने के लिए उसके दफ्तर आ रहा है। यहां पैसे देने के बजाय वीरेंद्र ने उसके पेट में गोली मार दी। सूचना मिलने के बाद राहुल मुरथल पहुंचा और अपने पिता को मुरथल रोड स्थित निजी अस्पताल लेकर गया, जहां से उपचार देने के बाद रेफर कर दिया गया। राहुल ने अपने पिता को रोहतक के निजी अस्पताल में भर्ती कराया है। सूचना के बाद पहुंची मुरथल थाना पुलिस ने घायल के बेटे राहुल के बयान पर वीरेंद्र व उसके भाई के खिलाफ हत्या की कोशिश व धमकी देने का मुकदमा दर्ज कर लिया है। राहुल का आरोप है कि वीरेंद्र का भाई भी उसके पिता को पैसे नहीं देने के बारे में कई बार धमकी दे चुका है। पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है।

गांव मुरथल में पैसों के लेनदेन में एक व्यक्ति को गोली मारने की शिकायत मिली थी। व्यक्ति के बेटे के बयान पर हत्या की कोशिश का मुकदमा दर्ज कर लिया है। मामले की गहनता से जांच की जा रही है। -इंस्पेक्टर सुमित कुमार, थाना प्रभारी, मुरथल।

.


What do you think?

Written by Haryanacircle

500 ग्राम गांजे के साथ युवक गिरफ्तार

कैंटर चालक को पिस्तौल दिखाकर 38 हजार रुपये, मोबाइल, डेबिट कार्ड और कपड़े लूटे