in

आसमान से बरस रहे आग के शोले, झूलसा रही लू


ख़बर सुनें

पानीपत। जिले में लोगों को सूर्यदेव के प्रचंड तेवरों का सामना करना पड़ रहा है। सुबह होते ही आसमान से मानो शोले बरसने लगते हों। बुधवार को भी गर्मी ने खूब पसीना छुड़ाया। 22 किलोमीटर की गति से चली लू के थपेड़ों ने पशु-पक्षियों तक को बेहाल कर दिया। सुबह 10 बजे ही लू चलने से झुलसाने वाली गर्मी का अहसास हुआ। दोपहर में लोग पूरी तरह से पसीनों में सराबोर दिखाई दिए। दोपहर में सड़क और बाजारों में सन्नाटा पसर गया। करीब दो बजे अधिकतम तापमान भी 45 डिग्री सेल्सियस के पार जा पहुंचा था। धूप तेज होने के कारण दोपहर में लोग बाहर निकलने से बचते नजर आए। भीषण गर्मी में जो घर से बाहर निकला, धूप और लू से बचने के लिए सिर व मुंह पर कपड़े बांधकर चलना पड़ा। गर्मी पिछले कई वर्षों के रिकॉर्ड तोड़ने पर आमादा है। जून की गर्मी में अधिकतम तापमान बीते नौ साल का रिकार्ड तोड़ चुका है।

फिलहाल राहत के आसार नहीं
मौसम विभाग के अनुमान के अनुसार इस सप्ताह भी लोगों को लू का सामना करना पड़ेगा। गर्मी और चिलचिलाती धूप से फिलहाल राहत के आसार नहीं हैं। न्यूनतम तापमान भी 32 से 35 डिग्री सेल्सियस तक रहने का अनुमान है। हालांकि 10-11 जून को अफगानिस्तान की ओर से मूव हो रहे पश्चिमी विक्षोभ के असर से थोड़ी राहत मिल सकती है। 11 और 12 जून को गरज-चमक के साथ हल्की बारिश के आसार हैं। इससे दिन के तापमान में 2-3 डिग्री तक गिरावट आ सकती है। लोगों को लू से बचने की सलाह दी जा रही है।

2 जून से आया मौसम में बदलाव
राजस्थान पर बने साइक्लोनि सर्कुलेशन और पश्चिमी विक्षोभ का असर कम होने के साथ ही दो जून से मौसम में बदलाव आया है। विंड पैटर्न भी बदला है। उत्तर-पश्चिमी हवाओं का चलना बंद होकर दक्षिणी-पश्चिमी हवाएं चलने लगीं। राजस्थान की ओर से आ रही हवाओं ने एक बार फिर मौसम गर्म कर दिया है। दिन का तापमान कम होने का नाम नहीं ले रहा। मंगलवार को अधिकतम तापमान 45.4 और न्यूनतम तापमान 30.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। गर्म हवाओं की गति 22 किलोमीटर प्रति घंटे दर्ज की गई।

बार-बार पीते रहें पानी
स्वास्थ्य विशेषज्ञों के अनुसार तेज गर्म हवाओं से शरीर में पानी की कमी होने का अंदेशा बना रहता है। व्यक्ति के डिहाइड्रेशन में आने से पेट की बीमारी सबसे अधिक होती है। इसके साथ ही पानी की कमी से आंखों की बीमारियां होने का खतरा बढ़ जाता है। चिकित्सक बार-बार पानी पीने की सलाह दे रहे हैं।
वर्जन…
लू लगातार चल रही है। इस सप्ताह गर्मी का प्रकोप जारी रहेगा। 10 जून को मौसम में मामूली बदलाव का अनुमान है। तापमान ज्यादा रहने से स्थानीय विक्षोभ उत्पन्न होने से आंधी चल सकती है। वहीं, 11 जून को हल्की बूंदाबांदी के आसार हैं।
– डॉ. डीएस बूंदेला, मौसम वैज्ञानिक।

पानीपत। जिले में लोगों को सूर्यदेव के प्रचंड तेवरों का सामना करना पड़ रहा है। सुबह होते ही आसमान से मानो शोले बरसने लगते हों। बुधवार को भी गर्मी ने खूब पसीना छुड़ाया। 22 किलोमीटर की गति से चली लू के थपेड़ों ने पशु-पक्षियों तक को बेहाल कर दिया। सुबह 10 बजे ही लू चलने से झुलसाने वाली गर्मी का अहसास हुआ। दोपहर में लोग पूरी तरह से पसीनों में सराबोर दिखाई दिए। दोपहर में सड़क और बाजारों में सन्नाटा पसर गया। करीब दो बजे अधिकतम तापमान भी 45 डिग्री सेल्सियस के पार जा पहुंचा था। धूप तेज होने के कारण दोपहर में लोग बाहर निकलने से बचते नजर आए। भीषण गर्मी में जो घर से बाहर निकला, धूप और लू से बचने के लिए सिर व मुंह पर कपड़े बांधकर चलना पड़ा। गर्मी पिछले कई वर्षों के रिकॉर्ड तोड़ने पर आमादा है। जून की गर्मी में अधिकतम तापमान बीते नौ साल का रिकार्ड तोड़ चुका है।



फिलहाल राहत के आसार नहीं

मौसम विभाग के अनुमान के अनुसार इस सप्ताह भी लोगों को लू का सामना करना पड़ेगा। गर्मी और चिलचिलाती धूप से फिलहाल राहत के आसार नहीं हैं। न्यूनतम तापमान भी 32 से 35 डिग्री सेल्सियस तक रहने का अनुमान है। हालांकि 10-11 जून को अफगानिस्तान की ओर से मूव हो रहे पश्चिमी विक्षोभ के असर से थोड़ी राहत मिल सकती है। 11 और 12 जून को गरज-चमक के साथ हल्की बारिश के आसार हैं। इससे दिन के तापमान में 2-3 डिग्री तक गिरावट आ सकती है। लोगों को लू से बचने की सलाह दी जा रही है।


2 जून से आया मौसम में बदलाव

राजस्थान पर बने साइक्लोनि सर्कुलेशन और पश्चिमी विक्षोभ का असर कम होने के साथ ही दो जून से मौसम में बदलाव आया है। विंड पैटर्न भी बदला है। उत्तर-पश्चिमी हवाओं का चलना बंद होकर दक्षिणी-पश्चिमी हवाएं चलने लगीं। राजस्थान की ओर से आ रही हवाओं ने एक बार फिर मौसम गर्म कर दिया है। दिन का तापमान कम होने का नाम नहीं ले रहा। मंगलवार को अधिकतम तापमान 45.4 और न्यूनतम तापमान 30.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। गर्म हवाओं की गति 22 किलोमीटर प्रति घंटे दर्ज की गई।



बार-बार पीते रहें पानी

स्वास्थ्य विशेषज्ञों के अनुसार तेज गर्म हवाओं से शरीर में पानी की कमी होने का अंदेशा बना रहता है। व्यक्ति के डिहाइड्रेशन में आने से पेट की बीमारी सबसे अधिक होती है। इसके साथ ही पानी की कमी से आंखों की बीमारियां होने का खतरा बढ़ जाता है। चिकित्सक बार-बार पानी पीने की सलाह दे रहे हैं।

वर्जन…

लू लगातार चल रही है। इस सप्ताह गर्मी का प्रकोप जारी रहेगा। 10 जून को मौसम में मामूली बदलाव का अनुमान है। तापमान ज्यादा रहने से स्थानीय विक्षोभ उत्पन्न होने से आंधी चल सकती है। वहीं, 11 जून को हल्की बूंदाबांदी के आसार हैं।

– डॉ. डीएस बूंदेला, मौसम वैज्ञानिक।

.


नहर में गिरी कार, एक युवक की मौत, तीन को बचाया

जहरीला पदार्थ खाने से युवक की मौत, पुलिस ने सुसाइड नोट किया बरामद