in

आवास योजना में भेदभाव का आरोप लगाकर प्रदर्शन


ख़बर सुनें

कलायत। प्रधानमंत्री आवास योजना में भेदभाव का आरोप लगाते हुए गांव कैलररम की महिलाओं ने सोमवार को खंड विकास एवं पंचायत कार्यालय में प्रदर्शन किया। बाद में महिलाओं ने दोबारा सर्वे करवाने की मांग के लिए बीडीपीओ को ज्ञापन सौंपा। उन्होंने समस्या के समाधान का आश्वासन दिया है।
प्रदर्शन में शामिल पूजा, रोशनी, दर्शना, बिमला, बीरमति, सरोज रानी, अनिल, बिट्टू राम, सुरेश, सुनील व अंग्रेजो ने सीधे सचिव जोगेंद्र सिंह पर अनियमितताओं का आरोप लगाया। उन्होंने पात्रों को दरकिनार करके अपात्र लोगों को योजना का लाभ दिया है। पीड़ित महिलाओं ने आरोप लगाते हुए कहा कि उन्होंने प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ अपने चहेतों को दिया है। महिलाओं ने कहा कि गांव में अनेक पात्र परिवार प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ लेने से वंचित रह गए। उन्होंने इस योजना को लेकर गांव में दोबारा सर्वे करवाने की मांग की है।
उधर, इस संबंध में बीडीपीओ रोजी सिंह ने कहा कि योजना के लाभ के लिए चयनित पात्रों को केवल ग्राम सचिव अंतिम रूप नहीं देता है। इसके लिए एक पैनल बनाया जाता है जो योजना के पात्रों को अंतिम रूप देते हैं। उन्होंने कहा कि ग्राम सचिव जोगेंद्र का गांव कैलरम से तबादला कर दिया गया है। यदि कोई पात्र व्यक्ति रह गया है तो वे अपना आवेदन दे सकते हैं। इस सारे मामले की जांच करवाकर कहीं कोई गलती मिलती है तो उसका सुधार करवा दिया जाएगा।

कलायत। प्रधानमंत्री आवास योजना में भेदभाव का आरोप लगाते हुए गांव कैलररम की महिलाओं ने सोमवार को खंड विकास एवं पंचायत कार्यालय में प्रदर्शन किया। बाद में महिलाओं ने दोबारा सर्वे करवाने की मांग के लिए बीडीपीओ को ज्ञापन सौंपा। उन्होंने समस्या के समाधान का आश्वासन दिया है।

प्रदर्शन में शामिल पूजा, रोशनी, दर्शना, बिमला, बीरमति, सरोज रानी, अनिल, बिट्टू राम, सुरेश, सुनील व अंग्रेजो ने सीधे सचिव जोगेंद्र सिंह पर अनियमितताओं का आरोप लगाया। उन्होंने पात्रों को दरकिनार करके अपात्र लोगों को योजना का लाभ दिया है। पीड़ित महिलाओं ने आरोप लगाते हुए कहा कि उन्होंने प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ अपने चहेतों को दिया है। महिलाओं ने कहा कि गांव में अनेक पात्र परिवार प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ लेने से वंचित रह गए। उन्होंने इस योजना को लेकर गांव में दोबारा सर्वे करवाने की मांग की है।

उधर, इस संबंध में बीडीपीओ रोजी सिंह ने कहा कि योजना के लाभ के लिए चयनित पात्रों को केवल ग्राम सचिव अंतिम रूप नहीं देता है। इसके लिए एक पैनल बनाया जाता है जो योजना के पात्रों को अंतिम रूप देते हैं। उन्होंने कहा कि ग्राम सचिव जोगेंद्र का गांव कैलरम से तबादला कर दिया गया है। यदि कोई पात्र व्यक्ति रह गया है तो वे अपना आवेदन दे सकते हैं। इस सारे मामले की जांच करवाकर कहीं कोई गलती मिलती है तो उसका सुधार करवा दिया जाएगा।

.


पर्यावरण संरक्षण के लिए सचेत और संजीदा थे पूर्वज

ई-केवाईसी कराओ, नहीं भूल जाओ किस्त