in

आधुनिक शिक्षा के क्षेत्र में सर्वाधिक महत्व नवाचार का है : मिश्र


जयपुर, सात जून (भाषा) राजस्थान के राज्यपाल कलराज मिश्र ने वैश्विक स्तर पर हो रहे बदलावों के अनुकूल शिक्षा पद्धति का विकास करने के लिए शैक्षिक नवाचारों को बढ़ावा देने पर जोर दिया।

उन्होंने कहा कि आधुनिक शिक्षा के क्षेत्र में सर्वाधिक महत्व नवाचार का है, इससे शिक्षा को व्यवसायोन्मुखी बनाकर विद्यार्थियों के साथ-साथ देश के भविष्य को भी नई ऊंचाई दी जा सकती है।

राज्यपाल मिश्र महाराजा गंगासिंह विश्वविद्यालय, बीकानेर के 19वें स्थापना दिवस के अवसर पर आयोजित समारोह में माउंट आबू स्थित राजभवन से ऑनलाइन सम्बोधित कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि शिक्षा को युगानुकूल बनाने के लिए सामाजिक, औद्योगिक और तकनीकी बदलावों को समाहित करते हुए शैक्षिक नवाचारों को प्रोत्साहन दिया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि छात्राओं को अगर अवसर मिले तो वे आकाश छू सकती हैं।

राज्यपाल ने कहा कि जो समाज शिक्षित होता है, वही उन्नति करता है, इसलिए बगैर किसी भेदभाव के शिक्षा का सुदूर स्थानों तक प्रसार करने के लिए सभी स्तरों पर निरंतर प्रयास करने की जरूरत है।

उन्होंने कहा कि शिक्षा विद्यार्थी के ज्ञान का विस्तार करने के साथ उनकी स्मृति, निर्णय क्षमता एवं सर्जनात्मक क्षमता का विकास करने वाली होनी चाहिए।

मिश्र ने कहा कि विद्यार्थी संविधान प्रदत्त जीवन मूल्यों, मौलिक अधिकारों और कर्तव्यों के प्रति आस्थावान बनें, इसके लिए प्रदेशभर के विश्वविद्यालयों में संविधान पार्क स्थापित करने की पहल की गयी है।

.


एशियन कप क्वालिफायर्स : सुनील छेत्री की कप्तानी में कंबोडिया पर बड़ी जीत दर्ज करने उतरेगा भारत

आईटी पोर्टल में एक और गड़बड़ी; इंफोसिस को समस्या ठीक करने का निर्देश