अमेरिका भेजने के नाम 17 लाख रुपये की धोखाधड़ी, पांच नामजद


ख़बर सुनें

अमेरिका भेजने के नाम पर 17 लाख रुपये की धोखाधड़ी के आरोप में पुलिस एक ही परिवार की दो महिलाओं सहित पांच लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। आरोपियों ने 17 लाख रुपये में अपनी भतीजी (शिकायतकर्ता) को अमेरिका भेजने का वादा किया था।
गांव मलिकपुर वासी कर्मजीत कौर ने इस्माईलाबाद थाना पुलिस में शिकायत दर्ज कराई कि वह सिलाई कढ़ाई का काम करती है। उसके चाचा-चाची, उनके दामाद, दामाद का भाई तथा एक अन्य ने उसके पिता को झांसा दिया कि उनका दामाद व उसका भाई लोगों को विदेश भेजते हैं। वह उसकी बेटी को भी विदेश भेज देंगे। आरोपियों ने उसे 17 लाख रुपये में अमेरिका भेजने का आश्वासन दिया था। उसने आरोपियों को एक लाख रुपये एडवांस दिए। इसके अलावा वर्ष 2017 में अलग-अलग तारीखों में आरोपियों को 16 लाख रुपये दिए। इसमें कुछ राशि चेक से और कुछ राशि नकद दी गई। वहीं कुछ राशि खाते में भी ट्रांसफर भी कराई गई। दिसंबर 2017 में आरोपियों से विदेश के बारे में पूछा तो वे टाल-मटोल करने लगे। शिकायतकर्ता के पिता व कैंथला निवासी चीरमल सिंह आरोपियों के घर गए तो आरोपियों ने समय मांगा कि तीन-चार महीने में पासपोर्ट रुपयों सहित वापस कर देंगे। मई 2019 में आरोपियों के पास पैसे व पासपोर्ट कागजात मांगने के लिए गए तो वहां पंचायत में आरोपियों ने अपनी गलती मानते हुए पैसे वापस देने के लिए एक साल का समय मांगा। 30 मार्च को एक पोस्टडेटेड चेक 17 लाख रुपये की राशि का शिकायतकर्ता को दिया, मगर खाते में राशि न होने के कारण चेक कैश नहीं हुआ। तब उसने इसकी शिकायत पुलिस अधीक्षक को दी और जांच इस्माईलाबाद थाने में भेजी गई। 22 अप्रैल को दोनों पक्षों के बीच पंचायत हुई। पंचायत में आरोपी बलजीत सिंह ने एक शपथ पत्र दिया कि वह 20 मई तक 17 लाख रुपये वापस कर देगा या शिकायतकर्ता को विदेश भेज देगा, मगर आरोपी ने दोनों में से कोई काम नहीं किया। पुलिस ने शिकायत पर बलजीत सिंह वासी गांव दुडाना (जींद), उसकी पत्नी जसविंद्र कौर, मलकीत सिंह, गांव मलिकपुर वासी मोहिंद्र सिंह, उसकी पत्नी प्रीतम कौर के खिलाफ मामला दर्ज करके जांच शुरू कर दी।

अमेरिका भेजने के नाम पर 17 लाख रुपये की धोखाधड़ी के आरोप में पुलिस एक ही परिवार की दो महिलाओं सहित पांच लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। आरोपियों ने 17 लाख रुपये में अपनी भतीजी (शिकायतकर्ता) को अमेरिका भेजने का वादा किया था।

गांव मलिकपुर वासी कर्मजीत कौर ने इस्माईलाबाद थाना पुलिस में शिकायत दर्ज कराई कि वह सिलाई कढ़ाई का काम करती है। उसके चाचा-चाची, उनके दामाद, दामाद का भाई तथा एक अन्य ने उसके पिता को झांसा दिया कि उनका दामाद व उसका भाई लोगों को विदेश भेजते हैं। वह उसकी बेटी को भी विदेश भेज देंगे। आरोपियों ने उसे 17 लाख रुपये में अमेरिका भेजने का आश्वासन दिया था। उसने आरोपियों को एक लाख रुपये एडवांस दिए। इसके अलावा वर्ष 2017 में अलग-अलग तारीखों में आरोपियों को 16 लाख रुपये दिए। इसमें कुछ राशि चेक से और कुछ राशि नकद दी गई। वहीं कुछ राशि खाते में भी ट्रांसफर भी कराई गई। दिसंबर 2017 में आरोपियों से विदेश के बारे में पूछा तो वे टाल-मटोल करने लगे। शिकायतकर्ता के पिता व कैंथला निवासी चीरमल सिंह आरोपियों के घर गए तो आरोपियों ने समय मांगा कि तीन-चार महीने में पासपोर्ट रुपयों सहित वापस कर देंगे। मई 2019 में आरोपियों के पास पैसे व पासपोर्ट कागजात मांगने के लिए गए तो वहां पंचायत में आरोपियों ने अपनी गलती मानते हुए पैसे वापस देने के लिए एक साल का समय मांगा। 30 मार्च को एक पोस्टडेटेड चेक 17 लाख रुपये की राशि का शिकायतकर्ता को दिया, मगर खाते में राशि न होने के कारण चेक कैश नहीं हुआ। तब उसने इसकी शिकायत पुलिस अधीक्षक को दी और जांच इस्माईलाबाद थाने में भेजी गई। 22 अप्रैल को दोनों पक्षों के बीच पंचायत हुई। पंचायत में आरोपी बलजीत सिंह ने एक शपथ पत्र दिया कि वह 20 मई तक 17 लाख रुपये वापस कर देगा या शिकायतकर्ता को विदेश भेज देगा, मगर आरोपी ने दोनों में से कोई काम नहीं किया। पुलिस ने शिकायत पर बलजीत सिंह वासी गांव दुडाना (जींद), उसकी पत्नी जसविंद्र कौर, मलकीत सिंह, गांव मलिकपुर वासी मोहिंद्र सिंह, उसकी पत्नी प्रीतम कौर के खिलाफ मामला दर्ज करके जांच शुरू कर दी।

.


What do you think?

Written by Haryanacircle

अग्निपथ योजना के विरोध को देखते हुए प्रशासन ने लगाई धारा 144

अग्निपथ योजना के विरोध में ट्रैक जाम की घोषणा से आज चार ट्रेनें रद्द रहेंगी