अमित सरोहा और गौरी श्योराण बनीं निर्वाचन आयोग की यूथ आइकन


ख़बर सुनें

सोनीपत। पैरालंपियन अमित सरोहा और अंतरराष्ट्रीय निशानेबाज गौरी श्योराण को प्रदेश निर्वाचन आयोग ने एक साल के लिए यूथ आइकन बनाया है। दोनों खिलाड़ी चुनाव आयोग की तरफ से मतदान प्रतिशत बढ़ाने के लिए चलाए जा रहे जागरूकता अभियान में अपना योगदान देंगे। दोनों खिलाड़ियों ने मतदाताओं से अधिक से अधिक मतदान करने की अपील की है।
हरियाणा निर्वाचन आयोग की तरफ से सोनीपत के गांव बैंयापुर निवासी अमित सरोहा व चंडीगढ़ के सेक्टर-7बी निवासी गौरी श्योराण को एक वर्ष के लिए चुनाव प्रचार व जागरूकता के लिए प्रदेश का यूथ आइकन बनाया गया है। चुनाव आयोग का ध्यान युवा व महिला मतदाताओं पर है। युवा व महिला वर्ग चुनाव में मतदान के प्रति ज्यादा उदासीन रहता है। ऐसे में इस वर्ग को मतदान केंद्र तक पहुंचाने के लिए प्रयास किए जा रहे हैं।
गांव बैंयापुर निवासी अर्जुन अवॉर्डी अमित सरोहा अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में 21 से ज्यादा और राष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में 19 पदक हासिल कर चुके हैं। सड़क दुर्घटना में दिव्यांग होने के बाद भी उन्होंने हार नहीं मानी और कड़ी मेहनत व जुनून से नई बुलंदियां हासिल की। उन्होंने दो एशियन रिकॉर्ड डिस्कस थ्रो और क्लब थ्रो में बनाए हैं। वह पैरालंपिक में तीन बार देश का प्रतिनिधित्व कर चुके हैं। अंतरराष्ट्रीय निशानेबाज गौरी श्योराण विश्व विश्वविद्यालय चैंपियन, विश्व चैंपियनशिप, विश्व कप, एशियाई चैंपियनशिप और दक्षिण एशियाई खेलों में स्वर्ण, रजत और कांस्य पदक जीत चुकी हैं। उन्होंने 35 अंतरराष्ट्रीय चैंपियनशिप में भाग लेकर 26 पदक जीते हैं। साथ ही 108 राष्ट्रीय और अन्य पदक भी जीत चुकी है। उन्होंने बेंगलूरू में खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्स में स्वर्ण पदक जीता है। गौरी श्योराण वर्ष 2018 से राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन, भारत सरकार की ब्रांड एंबेसडर हैं। अपनी उपलब्धियों के चलते वह देश की महिला शूटिंग टीम में टॉप लिस्ट पर शुमार हैं। कोरोना महामारी में रिपब्लिक ऑफ घाना की ओर से भी उन्हें ऑनलाइन अवार्ड दिया जा चुका है। यह अवॉर्ड नई दिल्ली में घाना के उच्चायुक्त माइकल एएनएन ओक्वेय एस्क ने ऑनलाइन दिया था। उनके पिता आईएएस अधिकारी जगदीप श्योराण हैं। वह फिलहाल खादी ग्राम उद्योग में सीईओ के पद पर हैं।

सोनीपत। पैरालंपियन अमित सरोहा और अंतरराष्ट्रीय निशानेबाज गौरी श्योराण को प्रदेश निर्वाचन आयोग ने एक साल के लिए यूथ आइकन बनाया है। दोनों खिलाड़ी चुनाव आयोग की तरफ से मतदान प्रतिशत बढ़ाने के लिए चलाए जा रहे जागरूकता अभियान में अपना योगदान देंगे। दोनों खिलाड़ियों ने मतदाताओं से अधिक से अधिक मतदान करने की अपील की है।

हरियाणा निर्वाचन आयोग की तरफ से सोनीपत के गांव बैंयापुर निवासी अमित सरोहा व चंडीगढ़ के सेक्टर-7बी निवासी गौरी श्योराण को एक वर्ष के लिए चुनाव प्रचार व जागरूकता के लिए प्रदेश का यूथ आइकन बनाया गया है। चुनाव आयोग का ध्यान युवा व महिला मतदाताओं पर है। युवा व महिला वर्ग चुनाव में मतदान के प्रति ज्यादा उदासीन रहता है। ऐसे में इस वर्ग को मतदान केंद्र तक पहुंचाने के लिए प्रयास किए जा रहे हैं।

गांव बैंयापुर निवासी अर्जुन अवॉर्डी अमित सरोहा अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में 21 से ज्यादा और राष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में 19 पदक हासिल कर चुके हैं। सड़क दुर्घटना में दिव्यांग होने के बाद भी उन्होंने हार नहीं मानी और कड़ी मेहनत व जुनून से नई बुलंदियां हासिल की। उन्होंने दो एशियन रिकॉर्ड डिस्कस थ्रो और क्लब थ्रो में बनाए हैं। वह पैरालंपिक में तीन बार देश का प्रतिनिधित्व कर चुके हैं। अंतरराष्ट्रीय निशानेबाज गौरी श्योराण विश्व विश्वविद्यालय चैंपियन, विश्व चैंपियनशिप, विश्व कप, एशियाई चैंपियनशिप और दक्षिण एशियाई खेलों में स्वर्ण, रजत और कांस्य पदक जीत चुकी हैं। उन्होंने 35 अंतरराष्ट्रीय चैंपियनशिप में भाग लेकर 26 पदक जीते हैं। साथ ही 108 राष्ट्रीय और अन्य पदक भी जीत चुकी है। उन्होंने बेंगलूरू में खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्स में स्वर्ण पदक जीता है। गौरी श्योराण वर्ष 2018 से राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन, भारत सरकार की ब्रांड एंबेसडर हैं। अपनी उपलब्धियों के चलते वह देश की महिला शूटिंग टीम में टॉप लिस्ट पर शुमार हैं। कोरोना महामारी में रिपब्लिक ऑफ घाना की ओर से भी उन्हें ऑनलाइन अवार्ड दिया जा चुका है। यह अवॉर्ड नई दिल्ली में घाना के उच्चायुक्त माइकल एएनएन ओक्वेय एस्क ने ऑनलाइन दिया था। उनके पिता आईएएस अधिकारी जगदीप श्योराण हैं। वह फिलहाल खादी ग्राम उद्योग में सीईओ के पद पर हैं।

.


What do you think?

Written by Haryanacircle

‘अग्निपथ’ का विरोध, गांव तालू में सड़क जाम कर युवाओं ने जताया विरोध

पंजाब में एक और घोटाला: एक DFO के स्टिंग ने खोले राज, दो पूर्व मंत्रियों की जल्द हो सकती गिरफ्तारी