अब सोशल मीडिया पर अनुयायियों से प्रतिदिन रू-ब-रू होगा डेरामुखी


ख़बर सुनें

सिरसा। हरियाणा के रोहतक जिले की सुनारिया जेल में बंद डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत सिंह को 30 दिन की पैरोल मिल गई है। अब डेरामुखी यूपी केेेे बागपत जिले में स्थित बरवाना डेरा पर पहुंच गया है। जेल से बाहर आते ही डेरामुखी अपने सोशल मीडिया के चैनल से अनुयायियों को महत्वपूर्ण संदेश भी दिया। अब सोशल मीडिया पर अनुयायियों से रू-ब-रू होकर डेरामुखी लोगों को संदेश दिया करेगा।
डेरा के सूत्र बताते हैं कि एक वर्ष के दौरान डेरामुखी 70 दिन की पैरोल ले सकता है। इसलिए 30 दिन की पैरोल पर जेल से बाहर आया है। पैरोल की मंजूरी के आदेश वीरवार शाम को आ गए थे। डेरामुखी अपनी पैरोल अवधि के दौरान सिरसा डेरा आना चाहता था, लेकिन सुरक्षा कारणों से इंकार कर दिया गया। इस पर डेरामुखी ने यूपी और हिमाचल प्रदेश का विकल्प दिया। जेल प्रशासन ने यूपी के बागपत जिले में रहने की अनुमति प्रदान कर दी। परिवार के सभी सदस्यों ने एक दिन पहले ही जेल में डेरामुखी से मुलाकात की। इसके बाद परिवार के सदस्य पहले ही बरनावा डेरा पहुंच गए, जिनमें मुंहबोली बेटी हनीप्रीत भी शामिल हैं। शुक्रवार सुबह करीब 6.30 बजे डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत सिंह जेल से बाहर आ गया। डेरामुखी को लेने के लिए डेरा के सीनियर वाइस चेयरमैन चरणजीत इंसा और एक साथी गए थे। शुक्रवार सुबह जेल से रिहा होने के बाद डेरा के अधिकारिक सोशल मीडिया अकाउंट पेज पर भी अनुयायियों के नाम संदेश जारी किए हैं। इसमें कहा गया है कि साध संगत को घरों में रहकर सिमरन करना है। आगे के कार्यक्रम के बारे में साध संगत को सूचित कर दिया जाएगा। संवाद
सोशल मीडिया पर आया लाइव, अब प्रतिदिन जारी हो सकता है संदेश
डेरामुखी गुरमीत सिंह बरनावा डेरा पर पहुंचते ही अपने सोशल मीडिया चैनल पर लाइव आ गया। लाइव वीडियो के दौरान डेरामुखी ने कहा कि हम यूपी से बोल रहे हैं। इसके बाद अपना संदेश अनुयायियों को दिया। डेरा के सूत्र बताते हैं कि इस बार जेल प्रशासन और सरकार की ओर से ज्यादा पाबंदियां नहीं लगाई गई है। इसलिए डेरामुखी प्रतिदिन या एक-दो दिन की अवधि के बाद नियमित रूप से लाइव आकर अनुयायियों से जुड़ेगा।
अनुयायियों को ये दिए महत्वपूर्ण संदेश
1. कुछ दिन पहले ये अफवाह उड़ी कि जेल से आने वाले डेरामुखी के सभी पत्र झूठे हैं। इसलिए डेरामुखी ने अपने एक मिनट और 44 सेकंड के वीडियो में स्पष्ट किया कि अभी तक उन्होंने जेल में रहते 10 चिट्ठियां लिखी हैं।
2. डेरामुखी ने संदेश दिया कि सभी अनुयायी अपने-अपने घरों में रहें और सुमिरन करें।
3. डेरा संचालन को लेकर कई दावेदार पिछले दिनों सामने आए हैं। इसलिए अनुयायी असमंजस में हैं कि किसका कहना मानना है। इस पर डेरामुखी ने स्पष्ट किया है कि एडम ब्लॉक के सेवादारों या वे जिनकी ड्यूटी लगाएंगे, उन सेवादारों का कहना मानना है।
4. डेरामुखी ने अनुयायियों से कहा कि वे प्रशासन का सहयोग करें और बेवजह एकत्र न हों।
अभी सिरसा आने की सूचना नहीं है : डेरा प्रवक्ता
देखिए, पैरोल अवधि के दौरान कहीं आने-जाने जैसी कोई पाबंदी नहीं है। फिर भी अभी सिरसा आने को लेकर कोई कार्यक्रम निर्धारित नहीं है। परिवार के कौन से सदस्य साथ हैं, इसकी जानकारी मुझे नहीं है।
-जितेंद्र खुराना, प्रवक्ता, डेरा सच्चा सौदा, सिरसा।

सिरसा। हरियाणा के रोहतक जिले की सुनारिया जेल में बंद डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत सिंह को 30 दिन की पैरोल मिल गई है। अब डेरामुखी यूपी केेेे बागपत जिले में स्थित बरवाना डेरा पर पहुंच गया है। जेल से बाहर आते ही डेरामुखी अपने सोशल मीडिया के चैनल से अनुयायियों को महत्वपूर्ण संदेश भी दिया। अब सोशल मीडिया पर अनुयायियों से रू-ब-रू होकर डेरामुखी लोगों को संदेश दिया करेगा।

डेरा के सूत्र बताते हैं कि एक वर्ष के दौरान डेरामुखी 70 दिन की पैरोल ले सकता है। इसलिए 30 दिन की पैरोल पर जेल से बाहर आया है। पैरोल की मंजूरी के आदेश वीरवार शाम को आ गए थे। डेरामुखी अपनी पैरोल अवधि के दौरान सिरसा डेरा आना चाहता था, लेकिन सुरक्षा कारणों से इंकार कर दिया गया। इस पर डेरामुखी ने यूपी और हिमाचल प्रदेश का विकल्प दिया। जेल प्रशासन ने यूपी के बागपत जिले में रहने की अनुमति प्रदान कर दी। परिवार के सभी सदस्यों ने एक दिन पहले ही जेल में डेरामुखी से मुलाकात की। इसके बाद परिवार के सदस्य पहले ही बरनावा डेरा पहुंच गए, जिनमें मुंहबोली बेटी हनीप्रीत भी शामिल हैं। शुक्रवार सुबह करीब 6.30 बजे डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत सिंह जेल से बाहर आ गया। डेरामुखी को लेने के लिए डेरा के सीनियर वाइस चेयरमैन चरणजीत इंसा और एक साथी गए थे। शुक्रवार सुबह जेल से रिहा होने के बाद डेरा के अधिकारिक सोशल मीडिया अकाउंट पेज पर भी अनुयायियों के नाम संदेश जारी किए हैं। इसमें कहा गया है कि साध संगत को घरों में रहकर सिमरन करना है। आगे के कार्यक्रम के बारे में साध संगत को सूचित कर दिया जाएगा। संवाद

सोशल मीडिया पर आया लाइव, अब प्रतिदिन जारी हो सकता है संदेश

डेरामुखी गुरमीत सिंह बरनावा डेरा पर पहुंचते ही अपने सोशल मीडिया चैनल पर लाइव आ गया। लाइव वीडियो के दौरान डेरामुखी ने कहा कि हम यूपी से बोल रहे हैं। इसके बाद अपना संदेश अनुयायियों को दिया। डेरा के सूत्र बताते हैं कि इस बार जेल प्रशासन और सरकार की ओर से ज्यादा पाबंदियां नहीं लगाई गई है। इसलिए डेरामुखी प्रतिदिन या एक-दो दिन की अवधि के बाद नियमित रूप से लाइव आकर अनुयायियों से जुड़ेगा।

अनुयायियों को ये दिए महत्वपूर्ण संदेश

1. कुछ दिन पहले ये अफवाह उड़ी कि जेल से आने वाले डेरामुखी के सभी पत्र झूठे हैं। इसलिए डेरामुखी ने अपने एक मिनट और 44 सेकंड के वीडियो में स्पष्ट किया कि अभी तक उन्होंने जेल में रहते 10 चिट्ठियां लिखी हैं।

2. डेरामुखी ने संदेश दिया कि सभी अनुयायी अपने-अपने घरों में रहें और सुमिरन करें।

3. डेरा संचालन को लेकर कई दावेदार पिछले दिनों सामने आए हैं। इसलिए अनुयायी असमंजस में हैं कि किसका कहना मानना है। इस पर डेरामुखी ने स्पष्ट किया है कि एडम ब्लॉक के सेवादारों या वे जिनकी ड्यूटी लगाएंगे, उन सेवादारों का कहना मानना है।

4. डेरामुखी ने अनुयायियों से कहा कि वे प्रशासन का सहयोग करें और बेवजह एकत्र न हों।

अभी सिरसा आने की सूचना नहीं है : डेरा प्रवक्ता

देखिए, पैरोल अवधि के दौरान कहीं आने-जाने जैसी कोई पाबंदी नहीं है। फिर भी अभी सिरसा आने को लेकर कोई कार्यक्रम निर्धारित नहीं है। परिवार के कौन से सदस्य साथ हैं, इसकी जानकारी मुझे नहीं है।

-जितेंद्र खुराना, प्रवक्ता, डेरा सच्चा सौदा, सिरसा।

.


What do you think?

Written by Haryanacircle

Panipat Firing: नशे की हालत में मकान में घुसे युवक ने किए पांच फायर, दो घंटे बाद किया सरेंडर

अग्निपथ योजना का विरोध सड़क पर करने पर होगी कार्रवाई