अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस, बूंदाबांदी के बीच हजारों नागरिकों ने एक साथ किया योगाभ्यास


ख़बर सुनें

नारनौल। आजादी का अमृत महोत्सव के तहत ‘मानवता के लिए योग’ थीम के साथ मंगलवार को आठवें अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर नेताजी सुभाष चंद्र बोस स्टेडियम में आयोजित शिविर में हजारों नागरिकों ने बूंदाबांदी के बीच यौगिक क्रियाएं कीं। इस दौरान विद्यार्थियों ने भी योगाभ्यास किया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि प्रदेश के सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्य मंत्री ओमप्रकाश यादव रहे। एनआईसी की ओर से लगाए गए प्रोजेक्टर के माध्यम से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संबोधन का सीधा प्रसारण दिखाया गया।
हरियाणा योग आयोग व आयुष विभाग की ओर से आयोजित शिविर में मुख्य अतिथि ओमप्रकाश यादव ने कहा कि योग देश की पुरातन पद्धति है। इसे विश्व स्तर पर पहचान दिलाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2014 में संयुक्त राष्ट्र संघ में इसका प्रस्ताव रखा था। इसके बाद पूरे विश्व में इसकी स्वीकार्यता बढ़ी है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल के नेतृत्व में हर वर्ष योग का सफल आयोजन किया जाता है। हरियाणा सरकार ने योग को बढ़ावा देने के लिए हरियाणा योग आयोग का गठन किया है। उन्होंने कहा कि योग जीवन जीने की शैली है। योग करने वाला व्यक्ति निरोगी रहता है। योग हमें प्रकृति के नजदीक ले जाता है जिससे हमारा जीवन सुखमय और रोग रहित होता है।
इस दौरान कार्यक्रम में सहयोग देने पर मुख्य अतिथि ने पतंजलि योग समिति के निलेश मुद्गिल और बजरंग जांगिड़ को प्रशंसा पत्र देकर सम्मानित किया। वहीं प्रजापिता ब्रह्मकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय से ब्रह्मकुमारी कमलेश और अधिकारियों को भी सम्मानित किया गया।

विद्यार्थियों के लिए योग जरूरी: डॉ. आभीर
कार्यक्रम में उपायुक्त डॉ. जय कृष्ण आभीर ने कहा कि योग मनुष्य को नकारात्मकता से सकारात्मकता की ओर ले जाता है। विशेषकर विद्यार्थियों के लिए योग बहुत ही जरूरी है। उन्होंने विद्यार्थियों से आह्वान किया कि वे नियमित रूप से योग करें। इस मौके पर पुलिस अधीक्षक विक्रांत भूषण, नगराधीश डॉ. मंगल सैन, भाजपा प्रवक्ता सत्यव्रत शास्त्री, जिला आयुर्वेद अधिकारी डॉ. अजीत सिंह, खेल एवं युवा कार्यक्रम विभाग के उपनिदेशक परसराम व डॉ सतीश आदि मौजूद रहे।

नारनौल। आजादी का अमृत महोत्सव के तहत ‘मानवता के लिए योग’ थीम के साथ मंगलवार को आठवें अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर नेताजी सुभाष चंद्र बोस स्टेडियम में आयोजित शिविर में हजारों नागरिकों ने बूंदाबांदी के बीच यौगिक क्रियाएं कीं। इस दौरान विद्यार्थियों ने भी योगाभ्यास किया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि प्रदेश के सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्य मंत्री ओमप्रकाश यादव रहे। एनआईसी की ओर से लगाए गए प्रोजेक्टर के माध्यम से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संबोधन का सीधा प्रसारण दिखाया गया।

हरियाणा योग आयोग व आयुष विभाग की ओर से आयोजित शिविर में मुख्य अतिथि ओमप्रकाश यादव ने कहा कि योग देश की पुरातन पद्धति है। इसे विश्व स्तर पर पहचान दिलाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2014 में संयुक्त राष्ट्र संघ में इसका प्रस्ताव रखा था। इसके बाद पूरे विश्व में इसकी स्वीकार्यता बढ़ी है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल के नेतृत्व में हर वर्ष योग का सफल आयोजन किया जाता है। हरियाणा सरकार ने योग को बढ़ावा देने के लिए हरियाणा योग आयोग का गठन किया है। उन्होंने कहा कि योग जीवन जीने की शैली है। योग करने वाला व्यक्ति निरोगी रहता है। योग हमें प्रकृति के नजदीक ले जाता है जिससे हमारा जीवन सुखमय और रोग रहित होता है।

इस दौरान कार्यक्रम में सहयोग देने पर मुख्य अतिथि ने पतंजलि योग समिति के निलेश मुद्गिल और बजरंग जांगिड़ को प्रशंसा पत्र देकर सम्मानित किया। वहीं प्रजापिता ब्रह्मकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय से ब्रह्मकुमारी कमलेश और अधिकारियों को भी सम्मानित किया गया।



विद्यार्थियों के लिए योग जरूरी: डॉ. आभीर

कार्यक्रम में उपायुक्त डॉ. जय कृष्ण आभीर ने कहा कि योग मनुष्य को नकारात्मकता से सकारात्मकता की ओर ले जाता है। विशेषकर विद्यार्थियों के लिए योग बहुत ही जरूरी है। उन्होंने विद्यार्थियों से आह्वान किया कि वे नियमित रूप से योग करें। इस मौके पर पुलिस अधीक्षक विक्रांत भूषण, नगराधीश डॉ. मंगल सैन, भाजपा प्रवक्ता सत्यव्रत शास्त्री, जिला आयुर्वेद अधिकारी डॉ. अजीत सिंह, खेल एवं युवा कार्यक्रम विभाग के उपनिदेशक परसराम व डॉ सतीश आदि मौजूद रहे।

.


What do you think?

Written by Haryanacircle

रंगोई में नहीं हुई पानी निकासी, टैंकर व जनरेटर गड्ढे में गिरे, कनेक्शन कटा

Rajasthan News: 13 साल के मासूम से टास्क के नाम पर हैक कराए माता-पिता के फोन, सोशल मीडिया पर किए अश्लील पोस्ट